Jump to content
Mechanical Engineering Community

Sign in to follow this  
  • entries
    8
  • comments
    0
  • views
    26

What is automatic transmission system and working of automatic transmission system

Automobile technical

96 views

What is Automatic transmission Gear box. How it's working Automatic Transmission system

 

Automatic Transmission System

ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन                                                                                                                       ऑटोमेैटिक ट्रांसमिशन एक प्रकार का मोटर वाहन ट्रांसमिशन है जो अपने आप जैसे ही वाहन चलाता है और गीयर अनुपात को बदलता है तथा ड्राइवर को गीयर बदलने में आजाद रखता है। काफी ऑटोमेैटिक ट्रांसमिशन गीयर रेंज का सेट होता है। पार्किंग पावल ( powl ) प्रेेैशर के साथ जो स्ट्रोक फेस ट्रांसमिशन की आउटपुट (output shaft ) शाफ्ट को लॉक  ( lock )करता है वाहन को आगे पीछे तथा रोलिंग करने के लिए रखता है।                                                                                                                                                                    उसी तरह परंतु बड़ी डिवाइस हैवी वाहन , औद्योगिक वाहन के लिए प्रयोग की जाती है कुछ महीने सिमित स्पीड रेंज के साथ या फिक्स इंजन स्पीड साथ जैसे कुछ और फोर्कलिफ़्ट और लान मुबर केवल विभिन्न प्रकार के गीयर इंजन में पहिए से  देने के लिए टार्क कॉन्वेर्स्टर ( Torque Converster ) का प्रयोग किया जाता है।                                                                                                                                                                      ऑटोमेैटिक के साथ साथ दूसरे प्रकार ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन ( Transmission ) है। जैसे की ( CUT )कांस्टेंटली ट्रांसमिशन (Continuasly Transmission ) और सेमी ऑटोमेैटिक ट्रांसमिशन जो मनुवली ड्राइवर को गियर शिफ्ट करने free रखते हैं।  ट्रांसमिशन के प्रयोग से कंप्यूटर से गीयर चेंज कर के उदाहरण के लिए यदि ड्राइवर रेड लाइन इंजन में हो या रेड लाइन की अवस्था में हो स्पष्ट रूप के बावजूद दूसरे ट्रांसमिशन के समान ऑटोमेैटिक ट्रांसमिशन अंदरूनी ऑपरेशन में अर्थपूर्ण ढंग से  अलग है और ड्राइवर की फील feel सेंमी ऑटोमेैटिक और CUTS  से।      
                                                                                                                                                               पहला ऑटोमेैटिक ट्रांसमिशन सिस्टम 1921से  Alfred Horner Munro of Regina. के द्वारा खोजा गया था तथा यह कैनेडियन पेंटर ( CA235757 in 1923 )के अंडर (Under)पैटट किया गया।  सिस्टम इंजन के दौरान मुनरो ने अपनी डिवाइस को डिजाइन किया। जो एयर कंप्रेैस करता है हाइड्रोलिक (Fluid) की बजय और इसकी कम पावर की वजह से कमर्शियल एप्लीकेशन (Application) नहीं हो पाया जाता है  पहला ऑटोमेैटिक ट्रांसमिशन का हाइड्रोलिक फ्लूइड  प्रयोग में  1930 प्रयोग में जर्नल  मोटोरन (General Motorn ) द्वारा किया गया और 1940ओल्ड मोबाइल ( Old - Mobile )में परिणित किया गया जैसे की   Hydramatic  ट्रांसमिशन।                        मानवीय ट्रांसमिशन के साथ तुलना ( Comparison With Manual Transmission )   Read moreManual transmission system                                      


0 Comments


Recommended Comments

There are no comments to display.

Join the conversation

You can post now and register later. If you have an account, sign in now to post with your account.

Guest
Add a comment...

×   Pasted as rich text.   Paste as plain text instead

  Only 75 emoji are allowed.

×   Your link has been automatically embedded.   Display as a link instead

×   Your previous content has been restored.   Clear editor

×   You cannot paste images directly. Upload or insert images from URL.




×
×
  • Create New...